आखिर क्यों मनाई जाती है दीपावली

आखिर क्यों मनाई जाती है दीपावली | दिवाली से जुड़े रोचक तथ्य

14 नवंबर 2020 है आज दीपावली

आज 14 नवंबर 2020 है आज दीपावली भी है और साथ ही साथ कुछ और भी दिन है हम आपको मजेदार चीज बताएंगे इस पोस्ट में| जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं कि दीपावली एक हिंदू काहे नहीं बल्कि समस्त हिंदुस्तान के लिए एक मिसाल के तौर पर यह पर मनाया जाता है इस दिन श्री रामचंद्र अयोध्या 14 साल के वनवास के बाद अयोध्या वापस लौटे थे और इस दिन लोगों ने उनका स्वागत दीपक जलाकर किया था चारों तरफ रोशनी ही रोशनी प्रकाश ही प्रकाश से जगमग आ रही थी| कहा जाता है अयोध्या में श्री रामचंद्र के लौटने से काफी खुशियां ली आई थी और धन की बरसात भी होने लगी थी इसलिए दीपावली को हर साल मनाया जाने लगा जिससे कि यह दिन हर साल आता रहे|

 

आखिर क्यों मनाई जाती है दीपावली

क्यों मनाया जाता है दीपावली| जैसा कि हम सभी जानते हैं श्री रामचंद्र अयोध्या वापस लौटे थे 14 साल के वनवास के बाद इसकी खुशी के कारण अयोध्या वासियों ने उनके आने पर अपनी 14 साल की खुशी व्यक्त करने के लिए दीपक जलाए थे चारों तरफ प्रकाशमान कर दिया था और धूम धमाके के साथ श्री रामचंद्र का स्वागत किया था |

दिवाली पर वर्ल्ड रिकॉर्ड | World Record is About to Become on Diwali

 

किसकी की जाती है पूजा

इस दिन श्री रामचंद्र के पूजा के साथ-साथ लक्ष्मी जी गणेश जी सरस्वती माता जी की पूजा भी की जाती है इन सभी देवी देवताओं के मिलन से इस दिन काफी ज्यादा शुभ माना जाता है और इस दिन दीपावली को ही हिंदुओं का सबसे बड़ा पर्व भी माना जाता है

क्या करते हैं लोग

दीपावली के दिन सभी लोग नए नए कपड़े पहन कर एक दूसरे को मिठाई खिलाते हैं और देवी देवताओं की पूजा करते हैं जिनमें श्री रामचंद्र लक्ष्मी माता गणेश जी सरस्वती माता प्रमुख होते हैं सभी लोग मिलकर यह व्यक्त करते हैं और उसको पूरे देश में पूरे हिंदुस्तान में बड़े धूमधाम से मनाया जाता है |

दीपावली के प्रभाव

दीपावली के कुछ दिन पहले यह लोग घर की साफ सफाई करने लगते हैं जिसके कारण दीपावली के दिन सभी घर साफ होने की वजह से कुछ ज्यादा ही डगमगा जाते हैं और यह दिन बहुत बढ़िया लगता है जैसे मानो स्वर्ग |

इस दिन धन की बरसात होती है लक्ष्मी जी की पूजा करने के तत्पश्चात ऐसा होता है ऐसा माना जाता है

सभी देवताओं का अपना अपना महत्व होता है|||| जैसे लक्ष्मी जी की पूजा धन की बरसात करने के लिए सरस्वती माता की पूजा विद्या प्राप्ति के लिए तथा गणेश जी की पूजा बुद्धि अर्जित करने के लिए की जाती है और श्री रामचंद्र की पूजा वह तो इस ब्रह्मांड के पालन करता है तो उनका नाम तो सर्वप्रथम ही दिया जाता है साथी साथ हनुमान जी की पूजा भी की जाती है क्योंकि उन्होंने श्री रामचंद्र को 14 साल के वनवास में अपनी तरफ से जितना हो सकता था उतनी सहायता की थी

आपको यह पोस्ट पढ़ने में कैसा लगा कृपया करके हमें कमेंट में जरूर बताएं| और पढ़ने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें| कृपया करके इसको अपने दोस्तों के ग्रुप में शेयर भी करें

Related Links

बाल दिवस क्यों मनाया जाता है | बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं | Children day

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contact Us | About Us | Privacy Policy | Terms of Use | Disclaimer
Copyright © 2020 DigitalSportsInfo. The DigitalSportsInfo is not responsible for the content of external sites.