PM Addresses to ASSOCHAM

PM श्री नरेंद्र मोदी ने ASSOCHAM में क्या संबोधित किया | PM Addresses to ASSOCHAM

PM Addresses to ASSOCHAM
Source- Wikipedia

आज 19 दिसंबर 2020 को श्री नरेंद्र मोदी ने एसोचैम मतलब भारतीय वाणिज्य एवं उद्योग मंडल को संबोधित किया इस संबोधन में श्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनेक बातें बताई जैसे कि उन्होंने बताया कि हमारी अर्थव्यवस्था आज कहां पर है और किस तरीके से इसको हम बढ़ावा दे सकते हैं और जितने भी उद्योग जगत के उद्यमी हैं वह किस प्रकार से हमारे भारत के विकास में अपना योगदान दे रहे हैं और आने वाले समय में उनकी कितनी महत्वपूर्णता भारत के लिए बढ़ने वाली है|

दोस्तों इससे पहले कि हम आपको यह बताएं कि श्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ASSOCHAM मीटिंग में क्या कहा था हम आपको बताना चाहेंगे कि आखिर एसोचैम  क्या है |

आखिर एसोचैम  क्या है :- एसोचैम की स्थापना सन 1920 में की गई थी इसका मुख्य कार्य वाणिज्य एवं व्यापार  के कार्यों को सरल तथा उनकी रक्षा करना है


Related News

यूएनओ UNO अर्थात संयुक्त राष्ट्र संघ क्या है

UNESCO क्या है


एसोचैम  क्या है :-  एसोचैम की स्थापना सन 1920 में की गई थी इसका मुख्य कार्य उद्योग तथा विकास के कार्यों को सरल तथा उनकी रक्षा करना है

श्री नरेंद्र मोदी की एसोचैम कॉन्फ्रेंस में 5 मुख्य बातें

1. श्री नरेंद्र मोदी ने अपनी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग में उद्यमियों द्वारा दिए जाने वाले योगदान की काफी तारीफ की

2. श्री नरेंद्र मोदी ने उद्यमियों को बढ़ावा देते हुए कहा कि हमें हमारी अर्थव्यवस्था को और बढ़ाने की आवश्यकता है |

3. श्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि जिस प्रकार से उद्यमी अपना योगदान दे रहे हैं उसी प्रकार से सरकार भी अपने इकोसिस्टम को बनाने के लिए कड़ी से कड़ी मैनेजमेंट कर रही है ताकि आने वाले समय में बेरोजगार लोगों रोजगार दे सके |

4.  कोविड-19 दौरान सभी देशों की अर्थव्यवस्था  जूझ रही है वहीं भारत के अंदर एफडीआई और पीएफआई आए क्योंकि उन्हें भारत की अर्थव्यवस्था पर भरोसा हो गया है |

5. नरेंद्र मोदी ने अनुसंधान एवं विकास पर अफसोस जताते हुए कहा कि जिस प्रकार US का 70 % निवेश रिसर्च एंड डेवलपमेंट पर होता है उसी प्रकार से भारत को भी अपना निवेश बढ़ाने की आवश्यकता है |

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ASSOCHAM मीटिंग में सबसे महत्वपूर्ण बात

श्री नरेंद्र मोदी ने यह बात बड़े हम तरीके से की कि भारत को आत्मनिर्भर बनाना ही एक अहम बात नहीं है बल्कि भारत को आत्मनिर्भर कितने जल्दी बनाया जाता है यह भी अपने आप में एक कामयाबी है |

आने वाले 27 सालों के बाद भारत अपनी स्वतंत्रता की शताब्दी को पूरी करने जा रहा है और इस समय हम भारत देश को एक ऐसा देश देखना चाहते हैं कि जिस प्रकार से  हमारे संविधान के निर्माता देखना चाहते थे |

रतन टाटा को टाटा समूह की ओर से दिया गया उद्यम एसोचैम पुरस्कार

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contact Us | About Us | Privacy Policy | Terms of Use | Disclaimer
Copyright © 2020 DigitalSportsInfo. The DigitalSportsInfo is not responsible for the content of external sites.