Love Jihad

लव जिहाद कानून | प्यार के बीच धर्मांतरण का अंत

Love Jihad
Source:- opindia

उत्तर प्रदेश सरकार ने लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाए हैं | इस कानून को देश भर में भारी समर्थन मिल रहा है बिहार के गिरिराज सिंह ने सीएम आदित्य योगीनाथ को फैसले को सही बताते हुए कहा कि ऐसे कानून की आवश्यकता बिहार में भी है परंतु राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसका विरोध किया है और कहा है कि यह कानून देश को तोड़ने वाला है वहीं अन्य नेताओं ने इस पर मिलीजुली प्रतिक्रिया की है|

क्या होगा लव जिहाद का कानून:-  उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि कानून कुछ इस प्रकार का होगा| कि यदि कोई व्यक्ति यहां बात छुपा कर प्यार करता है और शादी करने के लिए धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाता है तो ऐसे में उस व्यक्ति पर 5 साल की सजा का प्रावधान है| और जो व्यक्ति इन लोगों का समर्थन करेगा और साथ देगा उसको भी बराबर का दोषी माना जाएगा| और उसे भी 5 साल की सजा दी जाएगी|

Must Read:- अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस एवं इसकी कहानी

क्यों पड़ रही है लव जिहाद कानून की जरूरत:-  पिछले कुछ सालों में देश भर में ऐसे कई मामले आए हैं जो इस बात को दर्शाते हैं कि लोगों ने अपने असली नाम और धर्म छुपाकर लड़कियों से प्रेम प्रसंग जमाया| और जब मामला आगे बढ़ गया तो उन्हें शादी करने के लिए धर्म बदलने के लिए दबाव डालने लगे ऐसे मामलों को बढ़ते देखा सरकार को इस फैसले पर पहुंचना पड़ा कि देश में एक कानून बनाने की नौबत आ गई अर्थात लव जिहाद कानून|

अब यदि कोई प्रेमी अपनी प्रेमिका से प्यार करने के बाद जब शादी करने की बात आती है तो उसको धर्म परिवर्तन के लिए विवश करेगा तो ऐसे में उसके साथ सख्त कार्यवाही की जाएगी और उसे 5 साल तक की सजा दी जाएगी और यदि वह उसका सपोर्ट कोई व्यक्ति करता है तो उसको भी बराबर का हकदार समझा जाएगा और साथ में उसको भी 5 साल की सजा दी जाएगी| जैसा कि आपने ऊपर पड़ा कि बिहार के सीएम ने यूपी के सीएम का सपोर्ट करते हुए उसको बिहार में भी लागू करने के लिए कहा वहीं दूसरी ओर राजस्थान के सीएम ने इसके खिलाफ रहे हैं |

Related Links

पाकिस्तान में मिला 1300 साल पुराना भगवान विष्णु का मंदिर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Contact Us | About Us | Privacy Policy | Terms of Use | Disclaimer
Copyright © 2020 DigitalSportsInfo. The DigitalSportsInfo is not responsible for the content of external sites.